Education

कलेक्टर कैसे बने – कलेक्टर बनने के लिए क्या करे जानिए हिंदी में

नमस्कार दोस्तों! आज के आर्टिकल कलेक्टर कैसे बने ( How to become a IAS ) में स्वागत है आपका। दोस्तों कलेक्टर बनाना आजकल हर युवा का सपना है जिसे अपने जीवन में कुछ बड़ा मुकाम हासिल करना होता है उनके मन में पहला विचार कलेक्टर बनने का आता है क्योंकि कलेक्टर बनाना हमारे समाज में एक राजा बनाने के समान है अकसर घर के बड़े बूढ़े लोग अपने बच्चो को “ओ कलेक्टर क्या कर रहे हो ” बोलकर उन्हे राजा होने का अहसास दिलाते है।

कलेक्टर बनाना एक बड़ी जिम्मेदारी का काम होता है। तो आइए आज में आपको अपने इस आर्टिकल में कलेक्टर कैसे बने इसकी पूरी जानकारी विस्तार में दूंगी। कृपया मेरे इस आर्टिकल कलेक्टर कैसे बने को आखिर तक पूरा पड़े।

कलेक्टर कौन होता है

कलेक्टर को जिले का राजा कहा जाता है। कलेक्टर एक उच्च स्तरीय अधिकारी होता है। जिले में कानून व्यवस्था को लागू करना कलेक्टर का ही काम होता है । कलेक्टर सभी डिपार्टमेंट का हेड होता है।जिले के हर विभाग के सरकारी अफसर कलेक्टर के नीचे ही काम करते है। कलेक्टर का काम बड़ा ही मुस्किल होता है क्योंकि जिले में होने वाले हर काम के लिए कलेक्टर ही जिम्मेदार होता है। इसलिए देश के हर राज्य के हर जिले के लिए एक कलेक्टर होता है।इन्हे ips भी कहा जाता है। कलेक्टर ऑफिस में आपके हर समस्या का संधान किया जाता है।

कलेक्टर कैसे बने (How to become a IAS)

कलेक्टर कैसे बने यह सवाल हर किसी के मन में होता है क्यूंकि इतनी पड़ी पोस्ट के लिए आपको इसकी पूरी जानकारी होना बहोत जरूरी है बिना जानकारी के आप अपना समय खराब ही करेंगे। कलेक्टर बनाने के लिए आपको बहोत कठिन परिश्रम करना पड़ेगा तो आयेगे में आप आपको बताती हूं कलेक्टर बनाने की पूरी प्रोसेस।

  • कलेक्टर बनाने के लिए दिए गए निर्देशों का पालन करे
  • कलेक्टर बनने के लिए सबसे पहले आप 12th पास करे 
  • 12th पास करने के बाद किसी भी स्टीम से ग्रेजुएशन करे
  • इसके बाद यूपीएससी (upsc) के लिए अप्लाई करे
  • यूपीएससी की तैयारी के लिए अच्छे से अच्छी क्लास ज्वाइन करे
  • यूपीएससी द्वारा आयोजित एंट्रेंस एग्जाम दे
  • प्री एग्जाम पास होने के बाद मैन एग्जाम की प्रिपरेशन करे 
  • ग्रेजुएशन करने के बाद आप कलेक्ट बनाने के लिए एलिजिबल हो जाते है।इसके बाद आप यूपीएससी(UPSC) की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर अप्लाई कर सकते है।

ये भी पढ़े: 12th के बाद पायलट कैसे बने

कलेक्टर क्या काम करते है

एक जिले के कलेक्टर का काम एक राजा की तरह ही जाता है उन्हे भी राजा की तरह अपने जिले में कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए कई कड़े कदम उठाने पड़ते है। नागरिक की सुरक्षा के लिए हमेशा नए नए नियम वा कानून बनना वा उनका पालन करना।देश में लागू हुई नई योजनाओं का पालन करवाना भी कलेक्टर का ही काम होता है।जिले में हो रहे सारे कार्यक्रम का आयोजन करना भी आईपीएस का ही काम होता है।

  • जिले में आने वाले नेता या vip लोगो की सुरक्षा का इंतेजाम भी कलेक्टर द्वारा किया जाता है।
  • कलेक्टर के कुछ खास काम–
  • कलेक्टर जमीन का मुख्य तय करता है।
  • सरकारी योजनाओं को लागू करता है।
  • किसान कर्ज का वितरण करना 
  • भूमी राजस्व का संग्रहण
  • सरकारी वा अन्य भूमि का रिकॉर्ड रखना 
  • आतंकी हमलों वा दंगो से जिले की रक्षा करना 
  • प्राकर्तिक आपदाओं का निवारण करना
  • लोन का बकाया शुल्क वा सिंचाई का शुल्क वसूलना 
  • यह बताए गए कुछ मुख्य कार्य है को एक कलेक्टर द्वारा किए जाते है बाकी जिले में होने वाला हर काम कलेक्टर की निगरानी में होता है।

कलेक्टर बनाने के लिए योग्यता

लोग अकसर जल्दबाजी में कलेक्टर बनने के लिए यूपीएससी की वेबसाइट www.upsc.gov.in पर अप्लाई कर देते है परन्तु कुछ समय बाद उनकी एप्लीकेशन रिजेक्ट हो जाती है कारण होता है आपकी योग्यता पूर्ण न होना। कलेक्टर एक बहोत बड़ी पोस्ट होती है इसके लिए योग्य होता बहोत जरूरी है।इसलिए कलेक्टर बनाने के लिए की योग्यत जरूरी है इसकी जानकारी आपको नीचे दी गहै

  • कैंडिडेट का ग्रेजुएट होना बहोत जरूरी है बिना ग्रेजुएशन लिए आप यूपीएससी में अप्लाई नही कर सकते
  • कलेक्टर बनाने के लिए कैंडिडेट को भारत का नागरिक होना जरूरी है।
  • कैंडिडेट पर कोई भी अपराधिक मुकदमा नहीं होना चाइए ( कोई पुलिस केस न हो)

कलेक्टर की एग्जाम पास करने के लिए टिप्स

  • कलेक्टर बनाने के लिए आपको बस कठिन परिश्रम के साथ साथ मन लगा कर पढ़ाई करना होगा। दिन में लगभग 7 या 8 घंटे पढ़ाई करना होगी।
  • एग्जाम पास करने के लिए अच्छी किताबे खरीदे
  • अपना एक टाइम टेबल बनाए
  • हर विषय पर पूरा ध्यान दे
  • वीक सब्जेक्ट पर ज्यादा ध्यान दे
  • अपने नोट्स बनाए
  • डेली न्यूज़ पेपर पड़े
  • करंट अफेयर पर ज्यादा ध्यान दे
  • क्लास के साथ साथ ऑनलाइन पढ़ाई भी कारे 
  • पढ़ाई के साथ साथ अपने स्वस्थ का भी ध्यान रखे 

कलेक्टर बनने के लिए जरूरी डॉक्यूमेंट

 कैंडिडेट के पास कलेक्टर बनाने के लिए सारे जरूरी डॉक्यूमेंट होना चाइए। क्योंकि यूपीएससी में अप्लाई करने के लिए आपको कुछ डॉक्यूमेंट अपलोड करना पड़ेंगे। बिना डॉक्यूमेंट के आप यूपीएससी में अप्लाई करने में समस्या का सामना करेंगे।क्योंकि कलेक्टर बनाना एक बड़ा काम है इसके लिए आपके पास गवर्मेंट द्वारा इश्यू किए गए सारे डॉक्यूमेंट होना जरूरी है। आवश्यक डॉक्यूमेंट की पूरी जानकारी नीचे दी है है।

  • आपके पास गवर्मेंट द्वारा issue किया गया एक पहचान पत्र या आधार कार्ड होना चाहिए
  • भारत के निवासी होने का प्रणाम पत्र होना चाहिए
  • ग्रेजुएशन का सर्टिफिकेट होना चाहिए
  • जाती प्रमाण पत्र होना चाहिए
  • 10वी और 12वी की मार्कशीट होना चाहिए

कलेक्टर की परीक्षा कितने भाग में होती है

कलेक्टर की प्ररीक्षा यूपीएससी द्वारा आयोजित की जाती है कलेक्टर की परीक्षा कठिन परीक्षा में से एक है।कलेक्टर बनने से पहले हर तरह से आपकी योग्यता की जांच की जाती है सारी परीक्षा पास करने के बाद आप मुख्य परीक्षा में बैठ पाते है। 

कलेक्टर की परीक्षा को तीन भागों में बांटा गया है।

1.प्रारंभिक परीक्षा ( pre exam)

2. मुख्य परीक्षा (main exam)

3. साक्षात्कार (Personal interview)

1.प्रारंभिक परीक्षा (pre exam)– कलेक्टर बनाने के लिए आपको प्रारंभिक परीक्षा पास करना बहोत जरुरी है।प्रारंभिक परीक्षा में आपकी करंट अफेयर और जनरल नॉलेज की परीक्षा ली जाती है। इसे पास करने के बाद आप आगे की प्रोसेस कर सकते है।

2.मुख्य एग्जाम(main exam)– मुख्य एग्जाम में आपसे हर विषय के बारे में पूछा जाता है जैसे की इतिहास भूगोल शास्त्र इकोनॉमी एग्रीकल्चर इत्यादि

इसमें आपके द्वारा पड़े गए सारे विषयों के सवाल पूछे जाते है।

3.(personal interview)–प्रारंभिक और मुख्य एग्जाम पास होने के बाद आपको पर्सनल इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है।पर्सनल इंटरव्यू में आपसे किसी भी टॉपिक पर बात की जाती है।इंटरव्यू का मुख्य काम है आपकी मेंटालिटी और प्रेशर हैंडलिंग कैपसिटी की जांच करना। आपकी बुद्धि का टेस्ट करना।पर्सनल इंटरव्यू पास होने के बाद आप कलेक्टर बनाने के लिए तैयार हो जाते है।

कलेक्टर बनने के लिए कौन सी बुक पढ़े

 वैसे तो आप किसी एक किताब को पड़ कर कलेक्टर नही बन सकते।आपको हर विषय पर पूरा ध्यान देना होगा इसलिए लिए हर तरह की बुक पड़ना होगा।

जिस बुक से जितना ज्ञान वा जानकारी मिले उसे प्राप्त करे ।यूपीएससी की तैयारी के लिए रीजनिंग बुक हिस्ट्री बुक भूगोल की सारी किताबे पड़ना जरूरी है।

कलेक्टर बनाने के लिए उम्र कितनी होनी चाहिए

कलेक्टर बनने लिए लिए अप्लाई करने से पहले उम्र का ध्यान रखना भी जरूरी है। उम्र ज्यादा होना या का होना आपके कलेक्टर बनने में समस्या खड़ी कर सकती है। कलेक्टर बनने के लिए उम्र वर्ग अनुसार बाटी गई है। अगर आप जनरल केटेगरी में आते है तो आपकी उम्र 21 से 32 वर्ष के बीज होना चाइए। जनरल केटेगरी वालो को उम्र में कोई छूट नही मिलती।

ओबीसी में आने वाले कैंडिडेट की उम्र भी 21 से 32 वर्ष के बीच होना चाइए पर ओबीसी कैंडिडेट के लिए 3 वर्ष की छूट है। एसटीएससी (st sc) कैंडिडेट को यूपीएससी द्वारा उम्र में भारी छूट दी जाती है। St sc कैंडिडेट की उम्र भी 21 से 32 वर्ष के बीच होना चाइए।इनको 5 वर्ष की आयु की छूट दी जाती है।

कलेक्टर बनने के लिए अप्लाई कैसे करें

  • सबसे पहले यूपीएससी की ऑफिशल वेबसाइट पर जाएं
  • इसके बाद होम पेज पर एग्जामिनेशन लिस्ट ओपन करें
  • एग्जामिनेशन  लिस्ट ओपन करने के बाद ऑनलाइन अप्लाई वाले ऑप्शन पर क्लिक करें
  • इसके बाद आपको अप्लाई ऑनलाइन फॉर वैरीयस एग्जामिनेशन का ऑप्शन दिखाई देगा इस पर क्लिक करें।
  • लिस्ट में से सिविल सर्विसेज एग्जाम को सिलेक्ट करें
  • इसके बाद स्टार्ट रजिस्ट्रेशन फॉर आईएएस पर क्लिक करें।
  • आपको एक फॉर्म प्राप्त होगा जिसमें आपको आपकी सारी जानकारी एकदम सही तरीके से मिलकर ना होंगी
  • आपकी पासपोर्ट साइज फोटो विद डेट अपलोड करें
  • अपने सारे डॉक्यूमेंट अपलोड करें
  • अंत में कन्फर्म और डिक्लेरेशन वाले ऑप्शन पर क्लिक करें।

कलेक्टर को क्या-क्या सुविधा मिलती है

एक जिला कलेक्टर को भारत सरकार द्वारा कई तरह की सुविधा प्रदान की जाती है जैसे कि पर्सनल गाड़ी पर्सनल सिक्योरिटी पर्सनल मेडिकल टीम सरकारी भवन इत्यादि। कलेक्टर की सैलरी भले 80000 होती है पर कैबिनेट सेक्रेटरी के पद तक पहुंचते-पहुंचते इनकी सैलरी 250000 तक हो जाती है।

कलेक्टर की ट्रेनिंग कहां होती है

यूपीएससी एग्जाम पास करने के बाद आपको एक कलेक्टर के कार्य और कर्तव्य से परिपूर्ण कराया जाता है इसके लिए आपको एक विशेष तरह की ट्रेनिंग प्रदान की जाती है। कलेक्टर की ट्रेनिंग मसूरी में स्थित लाल बहादुर शास्त्री नेशनल एकेडमी ऑफ एडमिनिस्ट्रेशन में कराई जाती है। यहां आपको विशेष तरह के एक्टिविटी पर्सनालिटी डेवलपमेंट और कई तरह की भाषाओं की ट्रेनिंग दी जाती है।

निष्कर्ष

आशा करती हूँ की आपको आज का आर्टिकल कलेक्टर कैसे बने | How to become a IAS पसंद आया होगा। अगर आपको यह पोस्ट पसंद आई हो तो इसे लाइक और शेयर जरूर करें।

FAQs- कलेक्टर कैसे बने

1. कलेक्टर की सैलरी कितनी होती है

80000 प्रतिमाह

2. यूपीएससी का एडमिट कार्ड कब आता है

परीक्षा से 2 महीने पहले मई या जून में।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button