Tech

Computer Kya Hai | कंप्यूटर क्या है पूरी जानकारी हिंदी में

हेलो दोस्तों कैसे हैं आप सब हम उम्मीद करते हैं कि आप सपरिवार कुशल होंगे दोस्तों वैसे तो आप को हमारे इस वेबसाइट पर बहुत से नए नए लेख पढ़ने को मिले हैं लेकिन आज हम इस लेख में जानेंगे कि Computer Kya Hai (कंप्यूटर क्या) है (what is Computer) है।

Computer Kya Hai (What is Computer)

कंप्यूटर एक मशीन है जो अपने सीपीयू या प्रोसेसर द्वारा हमें दिए गए आदेशों का पालन करती है, और फिर प्रोग्राम का परिणाम किसी भी डिवाइस, जैसे स्क्रीन या प्रिंटर पर आउटपुट के रूप में भेजा जाता है।  जिसे हम देख और पढ़ सकते हैं। किसी भी कार्य को करने के लिए कंप्यूटर को हमें निर्देश देने होते हैं और इन निर्देशों को पूरा करने के लिए कंप्यूटर को इनपुट डेटा की आवश्यकता होती है। यह इनपुट डेटा हम कंप्यूटर को माउस, की-बोर्ड आदि से देते हैं। कंप्यूटर के सभी भाग, जो किसी भी प्रक्रिया को करने का काम करते हैं, ‘प्रोसेसर’ कहलाते हैं।  प्रोसेसर का काम हमारे दिए गए टास्क को समझना और बिना किसी गलती के उसे पूरा करना होता है।

जिस प्रकार मनुष्य अपने किसी भी कार्य को करने के लिए मन से निर्देश देकर शरीर का उपयोग करता है, उसी प्रकार प्रोसेसर भी हमारे द्वारा दिए गए निर्देशों को पूरा करने के लिए कंप्यूटर के पुर्जों की सहायता लेता है।  किसी भी प्रोग्राम के पूरा होने के बाद हम स्क्रीन या प्रिंटर की मदद से अपना आउटपुट देख और पढ़ सकते हैं। आउटपुट हमारी प्रक्रिया के समाप्त होने के बाद का परिणाम है, जिसके लिए हम कंप्यूटर को निर्देश देते हैं।

कंप्यूटर हमारे जीवन में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। अगर हम शिक्षा से व्यवसाय की बात करें तो हर क्षेत्र पूरी तरह से कंप्यूटर पर निर्भर हो गया है। लेकिन कंप्यूटर से जुड़ी बहुत सारी जानकारी है जो आप में से बहुत से लोगों को नहीं पता होगी, जैसे कि कंप्यूटर को हिंदी में क्या कहते हैं या कंप्यूटर का फुल फॉर्म हिंदी में क्या है, तो चलिए आगे बढ़ते हैं और इन सभी सवालों के जवाब जानते हैं।

कंप्यूटर की परिभाषा क्या है? (What is the definition of computer?)

कंप्यूटर शब्द लैटिन भाषा के “Computare” से लिया गया है, जिसका अर्थ है गणना करना।  यह एक इलेक्ट्रॉनिक उपकरण है जिसका उपयोग डेटा को स्टोर करने, पुनर्प्राप्त करने और संसाधित करने के लिए किया जाता है।

कंप्यूटर का इतिहास क्या है?(What is the history of computer?)

कंप्यूटर वर्तमान समय की एक ऐसी अद्भुत तकनीक है जिसने सब कुछ बदल कर रख दिया है क्योंकि आज कंप्यूटर की मदद से हम घर बैठे ही बहुत से काम आसानी से कर सकते हैं। लेकिन क्या आप कंप्यूटर के इतिहास के बारे में जानते हैं? अगर आप जानना चाहते हैं कि कंप्यूटर का इतिहास क्या है, तो नीचे हमने आपको कंप्यूटर जेनरेशन की जानकारी हिंदी में दी है, जिसके बाद आप इसके इतिहास के बारे में जान पाएंगे।

1. पहली पीढ़ी – 1940-1956

कंप्यूटर की पहली पीढ़ी को जॉन मौचली और जे. प्रेस्पर एकेंट द्वारा 1940 में ENIAC (इलेक्ट्रॉनिक न्यूमेरिकल इंटीग्रेटर एंड कंप्यूटर) कंप्यूटर के निर्माण के दौरान पेश किया गया था। पहली पीढ़ी के कंप्यूटर ऐसे कंप्यूटर थे जिनमें वैक्यूम ट्यूब और मैग्नेटिक ड्रम का इस्तेमाल किया जाता था। इन कंप्यूटरों का आकार बहुत बड़ा था, जिसके कारण ये बहुत अधिक गर्मी उत्पन्न करते थे और बड़े आकार के कारण ये कंप्यूटर एक पूरे कमरे पर कब्जा कर लेते थे।

पहली पीढ़ी के कंप्यूटरों के कुछ नाम इस प्रकार हैं – ENIAC (इलेक्ट्रॉनिक न्यूमेरिकल इंटीग्रेटर एंड कंप्यूटर), EDVAC (इलेक्ट्रॉनिक डिस्क्रीट वेरिएबल ऑटोमैटिक कंप्यूटर), UNIVAC (यूनिवर्सल ऑटोमैटिक कंप्यूटर1)

दूसरी पीढ़ी – 1956-1963

कंप्यूटर की दूसरी पीढ़ी 1956 में पेश की गई थी। इस पीढ़ी के कंप्यूटरों में वैक्यूम ट्यूब के बजाय ट्रांजिस्टर का उपयोग किया गया था, जिसे 1947 में विलिओम शॉकली द्वारा निर्मित किया गया था। दूसरी पीढ़ी के कंप्यूटर पहली पीढ़ी की तुलना में बहुत बेहतर थे क्योंकि उनमें तेजी से काम करने की क्षमता थी और उसी समय उन्होंने कम जगह ली।

दूसरी पीढ़ी के कंप्यूटरों ने पहली पीढ़ी की तरह इनपुट देने के लिए पंच कार्ड का इस्तेमाल किया।  इस पीढ़ी में COBOL और FORTAN जैसी उच्च स्तरीय प्रोग्रामिंग भाषाओं का उपयोग किया जाता था।

दूसरी पीढ़ी के कंप्यूटरों के कुछ नाम हैं- IBM7094, Honeywell 400, CDC1604, UNIVAC1108

3. तीसरी पीढ़ी – 1964-1971

तीसरी पीढ़ी के कंप्यूटर 1964 में पेश किए गए थे। इस पीढ़ी में ट्रांजिस्टर के बजाय इंटीग्रेटेड सर्किट का इस्तेमाल किया गया था।  जिससे कंप्यूटर के काम करने की स्पीड काफी हद तक बढ़ गई। ये ऐसे कंप्यूटर थे जिनका वजन और आकार पहली और दूसरी पीढ़ी की तुलना में काफी कम था। वर्तमान में हम जिन मॉनिटर और कीबोर्ड का उपयोग कर रहे हैं, वे तीसरी पीढ़ी के दौरान लॉन्च किए गए थे। तीसरी पीढ़ी के कुछ मुख्य कंप्यूटर नाम TDC-316, IBM 360, PDP आदि हैं।

4. चौथी पीढ़ी – 1971-1985

कंप्यूटर की चौथी पीढ़ी की शुरुआत 1971 में माइक्रोप्रोसेसर के उपयोग से की गई थी।  इसके उपयोग से कंप्यूटर की कार्य क्षमता और भी अधिक बढ़ जाती थी जिससे इस कंप्यूटर की सहायता से कम समय में बड़ी गणना आसानी से होने लगी।  ये कंप्यूटर बहुत सस्ते थे, जिससे लोग इसे काफी पसंद करने लगे थे। इस कंप्यूटर में हाई लेवल प्रोग्रामिंग लैंग्वेज जैसे C, C++, D बेस का इस्तेमाल होने लगा। चौथी पीढ़ी के मुख्य कंप्यूटर PDP 11, CRAY-1, IBM 4341, DEC 10, STAR 1000।

5. पांचवीं पीढ़ी – 1985 से वर्तमान तक

पांचवीं पीढ़ी के कंप्यूटर 1985 में पेश किए गए थे। पांचवीं पीढ़ी के Computer वर्तमान समय में उपयोग किए जाने वाले कंप्यूटर हैं जो आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस पर आधारित हैं। धीरे-धीरे, इन कंप्यूटरों को लैपटॉप और टैबलेट में बदल दिया गया, प्रौद्योगिकी के विकास के बाद भी, कंप्यूटर अब घड़ियों के रूप में भी उपयोग किए जाने लगे।

कंप्यूटर के अंग

कंप्यूटर को किसी भी कार्य को करने के लिए विभिन्न उपकरणों की आवश्यकता होती है जिन्हें हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर के रूप में जाना जाता है। 

1. सीपीयू – सीपीयू का पूरा नाम ‘सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट’ है, यह कंप्यूटर का छोटा हार्डवेयर है जो कंप्यूटर प्रोग्राम के सभी निर्देशों को प्रोसेस करता है।  कंप्यूटर का सारा डाटा सीपीयू में ही स्टोर होता है। CPU को कंप्यूटर प्रोसेसर या माइक्रोप्रोसेसर माना जाता है।

2. मदरबोर्ड – मदरबोर्ड कंप्यूटर का एक प्रिंटेड सर्किट बोर्ड होता है।  यह एक प्लास्टिक प्लेट की तरह होता है जिसकी मदद से सीपीयू, रैम, हार्ड ड्राइव और ग्राफिक कार्ड जैसे हार्डवेयर पार्ट्स जुड़े होते हैं। मदरबोर्ड कंप्यूटर का एक ऐसा महत्वपूर्ण हिस्सा है जो कंप्यूटर के पुर्जों से जुड़ा होता है।

3. RAM का पूर्ण रूप – RAM रैंडम एक्सेस मेमोरी है।  यह कंप्यूटर और लैपटॉप दोनों उपकरणों में मौजूद है।  इसका उपयोग CPU द्वारा संसाधित किए जा रहे आपको बता दें कि किसी भी प्रकार के डाटा को संग्रहित करने के लिए इसका उपयोग किया जाता है

4. हार्ड ड्राइव – हार्ड ड्राइव एक सेकेंडरी स्टोरेज डिवाइस है, इसकी मदद से हम आपके कंप्यूटर पर फोटो, वीडियो, डॉक्यूमेंट्स को स्टोर कर सकते हैं।

5. मॉनिटर – मॉनिटर एक आउटपुट डिवाइस है जो बिल्कुल टीवी (टेलीविजन) की तरह दिखता है।  मॉनिटर कंप्यूटर का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है।  यह सीपीयू के अंदर चल रही सभी प्रक्रियाओं को इसकी स्क्रीन पर सॉफ्ट कॉपी के रूप में दिखाता है।

6. की-बोर्ड – की-बोर्ड एक इनपुट डिवाइस है जिसका उपयोग कंप्यूटर को निर्देश देने के लिए किया जाता है।

7. माउस – माउस एक इनपुट डिवाइस है जिसे पॉइंटिंग डिवाइस भी कहा जाता है, इसका उपयोग कंप्यूटर को निर्देश देने के लिए किया जाता है।

8. स्पीकर – स्पीकर एक आउटपुट डिवाइस है जिसका उपयोग कंप्यूटर से कनेक्ट करके ध्वनि सुनने के लिए किया जाता है।

9. प्रिंटर – प्रिंटर एक आउटपुट डिवाइस है जिसका कार्य कंप्यूटर द्वारा दी गई जानकारी को कागज पर प्रिंट करना है।

बेसिक Computer Kya Hai or Kya होता है इसको समझने के बाद अब अगर आपके मन में यह सवाल आ रहा है तो चलिए इसके बारे में जानते हैं।

कंप्यूटर कितने प्रकार के होते हैं

डेस्कटॉप कंप्यूटर: आधुनिक युग में समय बीतने के साथ, मशीनें आकार में छोटी और अधिक कार्यात्मक हो गई हैं।  इन मशीनों की गिनती में एक “सुपरकंप्यूटर” भी है।  इन कंप्यूटरों का उपयोग आज हर क्षेत्र में किया जा रहा है। इनका उपयोग छोटे कार्यालयों से लेकर बड़ी कंपनियों में भी किया जाता है, जिन्हें हम पीसी के नाम से जानते हैं।

लैपटॉप: आजकल लैपटॉप कंप्यूटर का उपयोग बहुत बढ़ गया है। लैपटॉप डेस्कटॉप से ​​ज्यादा पोर्टेबल होते हैं, इन्हें आसानी से कहीं भी ले जाया जा सकता है।

गोली: आधुनिक युग में विश्व में तकनीकी विकास बड़े पैमाने पर हुआ है। टैबलेट हाथ में लिए जाने वाले लैपटॉप की तुलना में अधिक पोर्टेबल होते हैं।

सर्वर: सर्वर एक ऐसी तकनीक है जो नेटवर्क में उपयोग की जाती है, जो इससे जुड़े कई उपकरणों और कार्यक्रमों को विभिन्न सेवाएं प्रदान करती है जिन्हें क्लाइंट कहा जाता है।  सर्वर नेटवर्किंग द्वारा सभी नेटवर्क के संसाधनों को एक दूसरे से जोड़ने का काम करता है।  यह एक तरह का सर्विस प्रोवाइडर होता है, जिसका काम क्लाइंट्स की जरूरत के हिसाब से डाटा और जानकारी देना यानि सर्विस करना होता है।

ये भी पढ़े : Voter Id Card Online Kaise Banaye , Bank Ko Hindi Mein Kya Kahate Hain

निष्कर्ष (conclusion)

दोस्तों इस लेख में आपने जाना कि हैं Computer Kya Hai (कंप्यूटर क्या है) (what is Computer) हम उम्मीद करते हैं कि अगर आपने इस लेख को शुरू से अंत तक पढ़ा है तो आप हो कंप्यूटर से जुड़ी हुई सभी जानकारी सही प्रकार से मिल गया होगा अगर आपको लग रहा है कि हमारे द्वारा दी हुई Computer Kya Hai (कंप्यूटर क्या है) (what is Computer) तो आप हमारे इस लेख को सोशल मीडिया पर शेयर कर सकते हैं क्योंकि बहुत से ऐसे लोग हैं जिन्हें कंप्यूटर के बारे में सही जानकारी नहीं है जिसके कारण वह काम नहीं कर पाते हैं अगर आप यह सोशल मीडिया पर शेयर करते हैं तो उनके लिए यह लेख काफी फायदेमंद साबित हो सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button