Education

DM कैसे बने 2023 में। DM क्या होता है

नमस्कार दोस्तों ! कई सिविल सर्विसेस की तैयारी करने के इकछुक विद्यार्थी DM कैसे बने 2023 में। DM क्या होता है से संबंधित विषय के बारे में सर्च करते हैं और उससे जुड़ी जानकारी जानना चाहते हैं।

डीएम एक सरकारी पद होता है जिस पर कार्य करने के लिए आपको सरकार द्वारा आयोजित कई परीक्षाओं को पास करना होता है। बहुत से लोग डीएम बनकर अपना और अपने घर परिवार का नाम भी रोशन करना चाहते हैं क्योंकि डीएम एक बहुत सम्माननीय पद है।

डीएम सरकारी पदों में से एक सबसे सर्वोच्च पद है। डीएम को जिले का मुखिया भी कहा जाता है क्योंकि जिले में होने वाली सारी गतिविधि पर डीएम की सहमति होना बहुत जरूरी है। दोस्तों आज के आर्टिकल में आप DM कैसे बने 2023 में। DM क्या होता है से जुड़ी जानकारी प्राप्त कर सकेंगे।

DM कैसे बने 2023 में। DM क्या होता है

जिला मजिस्ट्रेट को भी डीएम कहा जाता है यह कोई और नहीं बल्कि एक आईपीएस ऑफिसर ही होता है। Dm को जिला कलेक्टर भी कहा जाता है। डीएम को जिले का मुखिया माना जाता है जिले में कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए वाह जिले की सुरक्षा का कार्य भी DM के सर पर होता है।

डीएम सभी सरकारी कर्मचारियों का हेड होता है। जिले में होने वाले हर सरकारी काम डीएम की निगरानी में ही होते हैं। डीएम द्वारा ही जिले के सारी सरकारी विभाग चलाए जाते हैं।

जिले के सभी सरकारी विभाग डीएम के अंतर्गत ही कार्य करते हैं डीएम के अंतर्गत चलने वाले सरकारी विभाग जैसे कि कानून व्यवस्था, कृषि व्यवस्था ,सरकारी योजना,इनकम टैक्स ,जिला सिक्योरिटी ,आदि सब आते हैं। भारत के हर जिले में एक डीएम होता है। इस समय भारत में कुल 748 जिले हैं और हर जिले को चलाने के लिए एक डीएम नियुक्त किया गया है।

DM कैसे बने 2023 में

Dm बनने के लिए आपको सबसे पहले ग्रेजुएशन करना होगी इसके बाद आपको यूपीएससी द्वारा सिविल सर्विस के लिए कराई जाने वाली परीक्षा पास करनी होगी। परीक्षा में आपको 100 के अंदर ही रैंक मैं आना पड़ेगा। जब आप यूपीएससी की परीक्षा पास कर लेंगे तब आपको आईएएस ऑफिसर बना दिया जाएगा।

आईएएस अधिकारी बनने के बाद आप एक या दो प्रमोशन के बाद डीएम बना दिए जाएंगे। यूपीएससी की परीक्षा में अच्छी रैंक हासिल करने के बाद ही उम्मीदवारों को अलग-अलग पदों पर नौकरी दी जाती है वह अलग अलग विभाग के अधिकारी बनाए जाते हैं।

अगर किसी उम्मीदवार की रैंक सबसे अच्छी आती है तो उसे कलेक्टर या निगम आयोग प्रशासन का प्रमुख बनाया जाता है। और कुछ उम्मीदवारों को मंत्रालय और विभिन्न विभाग का सचिव भी बनाया जाता है।

सिविल सर्विसेज एग्जाम पास करने के बाद आपको आईएएस के अलावा और भी कई सारी सर्वोच्च सरकारी नौकरी मिलती है जैसे कि आप आईपीएस बन सकते हैं जो कि पुलिस प्रशासन का हेड होता है। इसके अलावा आप आई आर एस ऑफिसर बन सकते हैं जो कि आयकर विभाग का उच्च अधिकारी होता है।

DM बनने के लिए योग्यता

अगर आप यह जानना चाहते हैं कि डीएम बनने के लिए क्या करें और DM बनने के लिए क्या योग्यता होनि चाहिए। आपको डीएम बनने में आसानी हो और आप डीएम बनकर देश की सेवा कर सके। डीएम बनने के लिए आपको नीचे दिए गए निर्देशों का पालन करना होगा।

  • सबसे पहले अपना ग्रेजुएशन पूरा कर ले।
  • ग्रेजुएशन के साथ साथ ही आप यूपीएससी की कोचिंग क्लास ज्वाइन कर ले।
  • अपना एक टाइम टेबल बनाएं वह उसे सख्ती से फॉलो करें।
  • यूपीएससी सिलेबस की पूरी जानकारी निकाल ले।
  • अपने नॉलेज को बढ़ाने के लिए जनरल नॉलेज की बुक्स व ncert की बुक्स पढ़ें।
  • न्यूज़ पेपर पढ़ते रहे जिससे आप का करंट अफेयर्स अच्छा होगा।
  • कानून में होने वाले कुछ जरूरी नियम व कायदे के बारे में पढ़ें।
  • यूपीएससी में पूछे गए पिछले 5 साल के प्रश्नों को भी हल करें।
  • आपका जो सब्जेक्ट विक हो  उस पर अधिक ध्यान दें।
  • पढ़ाई के साथ-साथ अपने स्वास्थ्य का भी ध्यान अवश्य रखें।

DM की परीक्षा कैसे होती है

DM (डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट) बनाने के लिए आपको यूपीएससी की सिविल सर्विसेज एग्जाम पास करना बहुत जरूरी है यूपीएससी की एग्जाम भारत की सबसे कठिन परीक्षाओं में से एक है।

DM बनने के लिए होने वाली परीक्षा कई भागों में होती है।आपको परीक्षा के हर चरण में अच्छा प्रदर्शन करना होगा जिसके बाद ही आप डीएम बनने के लिए चुने जाएंगे।

यूपीएससी द्वारा सिविल सर्विसेज के लिए परीक्षा तीन भागों में कराई जाती है। जिसमें आपके दो रिटन टेस्ट व एक पर्सनल इंटरव्यू होता है।

  • प्रारंभिक परीक्षा (preliminary exam)
  • मुख्य परीक्षा (main exam)
  • साक्षात्कार प्रक्रिया ( personal interview)

1. प्रारंभिक परीक्षा (preliminary exam) – dm बनने बनने के लिए होने वाली यूपीएससी परीक्षा का यह पहला चरण है इसे पास करने के बाद ही आप मुख्य परीक्षा दे पाएंगे। प्रारंभिक परीक्षा में 2 पेपर होते हैं प्रत्येक पेपर 200 200 मार्क्स के होते हैं यह पेपर mcq टाइप होते हैं जिन्हें सॉल्व करने के लिए आपको 2 घंटे का समय दिया जाता है।

2.मुख्य परीक्षा (main exam)–  प्रारंभिक परीक्षा पास करने के बाद आप मुख्य परीक्षा देने के लिए योग्य हो जाते हैं। यहां यूपीएससी का दूसरा चरण होता है। मुख्य परीक्षा में आपको कुल मिलाकर 9 पेपर देने होते हैं जिनमें 7 पेपर के अंकों के आधार पर मेरिट लिस्ट बनाई जाती है बाकी दो पेपर में आपको सिर्फ यूपीएससी द्वारा निर्धारित अंक लाकर पास होना होता है। मुख्य परीक्षा में 9 पेपर के कुल मिलाकर 1750 अंक होते हैं।

3. साक्षात्कार प्रक्रिया( personal interview) – यह यूपीएससी परीक्षा का अंतिम चरण होता है मुख्य परीक्षा पास करने वाले उम्मीदवार को पर्सनल इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है जहां उनकी मानसिक व सामाजिक सोच का पता लगाया जाता है। इस परीक्षा में उम्मीदवार से कई तरह के सवाल जवाब किए जाते हैं जिससे कि यह पता चल सके की डीएम बनने के बाद अगर कोई परेशानी आए तो उम्मीदवार उसे कितनी आसानी से हल कर लेगा।

इस परीक्षा में आपसे आपके पसंदीदा विषय पर बात की जाती है और यह परीक्षा पास करने के बाद पास होने वाले उम्मीदवार को ट्रेनिंग के लिए भेज दिया जाता है वह ट्रेनिंग पूरी करने के बाद उन्हें आवश्यकतानुसार जिले के डीएम पद पर नियुक्त कर दिया जाता है।

DM क्या काम करता है

  • डीएम का मुख्य कार्य जिले में कानून व्यवस्था बनाए रखना होता है।
  • जिले में होने वाले अपराध की रिपोर्ट सरकार को देना।
  • पुलिस बल को जिले की सुरक्षा के लिए आदेश देना।
  • जिले में होने वाले सभी कार्यों का निरीक्षण करना
  • जिले में जमीन का कर वसूल करना।
  • सरकारी जमीन का रिकॉर्ड रखना
  • सरकार द्वारा आई योजनाओं को जिले में लागू करना।
  • किसानों के लिए कर्ज की व्यवस्था करना।
  • जिले की सुरक्षा के लिए कार्य करना।
  • जनसुनवाई करके सब की समस्या का समाधान करना।

DM बनने के लिए आवेदन कैसे करें

डीएम बनने के लिए आवेदन करने के लिए नीचे दिए गए निर्देशों का पालन करें।

  • सबसे पहले यूपीएससी की ऑफिशल वेबसाइट पर जाएं। Www.upsc.gov.in
  • वेबसाइट पर जाकर UPSC सिविल परीक्षा पर ऑनलाइन अप्लाई करें।
  • अप्लाई करने के बाद आपको नेक्स्ट स्टेप सिविल परीक्षा प्रारंभिक  परीक्षा में जाना है।
  • इसके बाद आप आईएस भाग 1 मैं जाकर अपना रजिस्ट्रेशन करें
  • अपनी सारी जानकारी रजिस्टर फॉर्म में सही-सही भरे तथा फॉर्म भरने के बाद ₹100 शुल्क का भुगतान भी करें।
  • परीक्षा फॉर्म के साथ अपनी पासपोर्ट साइज फोटो आधार कार्ड हस्ताक्षर आदि जरूरी डॉक्यूमेंट भी अपलोड करें।
  • भरी गई डिटेल को एक बार अवश्य चेक करें और सबमिट कर दें।
  • परीक्षा फॉर्म भरने के बाद उसका प्रिंट निकाल ले ताकि परीक्षा की तारीख आने पर आप उससे अपना एडमिट कार्ड निकाल सके।

निष्कर्ष

आशा करते हैं आपको आज का आर्टिकल DM कैसे बने 2023 में । DM क्या होता है विषय पर दी गई जानकारी पसंद आई होगी। अगर आपको यह पोस्ट पसंद आई हो तो इसे लाइक और शेयर जरूर करें आपका एक लाइक हमारे लिए बहुत मूल्यवान है यह हमें लिखने के लिए प्रोत्साहित करता है। साथ ही साथ कमेन्ट बॉक्स में अपने विचार लिखना न भूलें। हमारी वेबसाईट पर आकार अपना अमूल्य समय देने के लिए आपका धन्यवाद।

FAQs- DM कैसे बने 2023 में। DM क्या होता है

DM कैसे बने

DM बनने के लिए आपको यूपीएससी की परीक्षा पास करनी होगी।

DM का फूल फॉर्म क्या होता है?

Ans. डिस्ट्रिक मजिस्ट्रेट

DM की सैलरी कितनी होती है

60 हजार प्रतिमाह

DM कितने साल के लिए बनते है

60 वर्ष की आयु तक

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button